How To Get Palm Reading Report Online

Send Me Your Palm Images To Get Detailed Palm Reading Report -
Full Procedure

You can learn secrets of Indian palmistry in this palmistry blog and apply them but you need lots of practice. Learn important palmistry combinations here. The secret is in your hand, palmistry and professional palmistry secrets revealed.

Tuesday, April 17, 2018

Big Cross On Mount Of Jupiter | Palmistry

Learn Palmistry Online



Cross On Mount Of Jupiter

Cross On The Base Of Index Finger Or Cross On Mount Of Jupiter :- Cross on Jupiter hill indicates good marriage.

Cross on Mount of Jupiter is very common sign because you will find a vertical line from lifeline crossed by a horizontal line on Mount of Jupiter on many hands.

Some palmists follow above theory but some palmists opinion is that cross should be independent on Jupiter Mount.

As per palmistry books mostly in Indian Palmistry books you will find that cross on Jupiter Mounts indicates good marriage, marry to famous and rich person, change of status after marriage, etc but in my personal experience these things are not always true and cross should be independent on Mount of Jupiter. 
 Cross On The Base Of Index Finger Or Cross On Mount Of Jupiter :- Cross on Jupiter hill indicates good marriage.

However, cross is considered auspicious and gives good result on Mount of Jupiter and also on above bracelet lines.

पितृदोष | Pitra Dosh Nivaran Totka-Upay

लाल किताब टोन टोटके ऑनलाइन



पितृदोष को दूर करने के लिए उपाय

अमावस्या के दिन सवा गज सूती कपडा ले उसको किसी चौकी पर बिछा दे और सामने मिठाई रख दे और उस कपडे के एक कौने पर सवा पांच रूपए व कुछ चावल बांध दे और एक जटा वाला नारियल अपने पिता का ध्यान करते हुए उस कपडे में बांध दे और घर में कही सुरक्षित रख दे और मिठाई गरीब बच्चो में बाँट दे। खाना खाने से पहले अपने पिता के नाम से एक रोटी गाय को अवश्य खिलाय।
पढ़ें - हाथ में कैसे पता लगता है की पितृ दोष है ?

 पितृदोष को दूर करने के लिए उपाय
Pitradosh Nivaran Ke Liye Upay

Amavasya ke din sawa gaj sooti kapda le usko kisi chawki pr bicha de aur samne mithai rakh de aur us kapde ke ek kaune pr sawa paanch rupay va kuch chawal bandh de aur ek jata wala nariyal apne pita ka dhyan karte hue us kapde mein bandh de aur ghar mein kahi surkhshit rakh de aur mithai gareeb baccho mein baant de. Khaana khaane se pehle ek roti gaay ko avashya khilay apne pita ke naam se.

Bhagya Rekha (Fate Line) In Hindi | Hast Rekha



हस्तरेखा में भाग्य  रेखा का परिचय 
वर्तमान समय के जन मानस में भाग्य शब्द अपरिचित नहीं है । आज अगर कोई कार्य समय पर नहीं हो पाता या उसमें किसी भी प्रकार की अड़चन आती है तो भाग्य को ही दोष दिया जाता है ।

गीता के अठारहवें अध्याय में कहा गया है कि भगवान श्री कृष्ण का सारा परिश्रम भाग्य के नीचे दब गया और उसमें लिखा है कि 'दैवंचैवात्र पंचमम्'। वास्तव में देखा जाय तो भाग्य एक बाजार है जहां थोड़ी देर ठहरने के बाद भाव गिर जाते हैं।

बालक अपने पूर्व जन्म के संस्कारों के आधार पर जिस परिवार में जन्म लेता है उसका परिवेश परिजन बड़ी तन्मयता से पालन करता है। इस जीवन में जो कुछ मनुष्य कर्म करता है। 

वह धीरे धीरे संचय होता जाता है और उसकी एक तलपट तैयार होती जाती है, हम उसे कलान्तर में भाग्य का रुप दे देते हैं। आज का जो हमारा पुरुषार्थ है वही कल का भाग्य है, वास्तव में कर्मफल भोग के परिपाक को ही भाग्य कहते हैं।


मातृ दोषेण दुःशीलो, पितृ दोषेण मूर्खता।
कार्पण्य वंश दोषेण, स्वदोषेण दरिद्रता।।

(श्रीमद्भागवत महापुराण)

मनुष्य यदि चरित्रहीन हो तो उसकी माता में दोष सम-हजयना चाहिए, यदि वह मूर्ख है तो उसके पिता का दोष सम-हजयना चाहिए, यदि वह गरीब है तो किसी का दोष नहीं स्वयं का दोष सम-हजयना चहिए। 

इन्ही दस अंगुलियों द्वारा किये गये काम से दैनिक सप्ताहिक मासिक या वार्षिक रुप से भाग्य का संचय होता है। शनि रेखा या भाग्य रेखा मनुष्य का जीवन चक्र बतलाती है। 

उसका कारबार, व्यक्तित्व, आर्थिक उन्नति, परिवर्तन, व्याप्त प्रवृतियां इन सब का चित्रण भाग्य रेखा या शनि रेखा करती है।

भाग्य रेखा का उद्गम स्थान मणिबन्ध है, वहां से निकलने वाली रेखा मध्यमा अंगुली की ओर जाती है। इस रेखा के मार्ग में आने वाले अनेक चिह्न एवं रेखाओं का भिन्न-ंभिन्न अर्थ निकलते हैं।

1. भाग्य रेखा आयु रेखा में से निकलकर शनि पर्वत को जाये तो व्यक्ति का शुरुआती जीवन कुछ कठिनाई युक्त व्यतीत होता है। मेहनत से कार्य करके ये लोग प्रायः 21 वर्ष की आयु के पश्चात उन्नति करते हैं।

2. भाग्य रेखा के शुरुआत में अगर यव का निशान होवे तो उसका जन्म रहस्मय बताया गया है, इन लोगों को बाल्यकाल में काफी कुछ खोना पड़ सकता है।

3. मणिबन्ध से प्रारम होनेवाली भाग्य रेखा शुभ मानी जाती है। आरम्भ में यदि मत्स्य रेखा हो तो अत्यन्त शुभ माना जाता है। यही रेखा चैकोर हाथ में होने से व्यक्ति काफी अधिक धन कमाता है तथा काम से जी नहीं चुराता है। यही रेखा दार्शनिक हाथ में होने से कम काम करने से अधिक पैसा प्राप्त होता है।

4. मस्तिष्क रेखा से भाग्य रेखा शुरु होने पर काफी परेशानी को सह लने के बाद व्यक्ति का कार्य प्रगति पथ की ओर अग्रसर होता पाया गया है।

5. यदि भाग्य रेखा शनि पर्वत तक जाती है तो व्यक्ति की बृद्धावस्था सुखमय व्यतीत होती है।

6. भाग्य रेखा के समाप्ति स्थान पर क्रास का चिह्न घातक संकेत है।

7. चन्द्र क्षेत्र से निकलने वाली भाग्य रेखा से दूसरों की सहायता या प्रोत्साहन से सफलता प्राप्त होती है राजनीतिज्ञ एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं के हाथों में ऐसी रेखा अधिकांश पायी जाती है।

8. सीधी जाती हुई भाग्य रेखा में चन्द्र क्षेत्र से आकर अन्य रेखा मिलने पर व्यक्ति इच्छानुसार सफल होगा परन्तु किसी की सहायता से।

9. यही रेखा स्त्रियों के हाथ में होने से उसका विवाह या तो धनवान से होगा या फिर किसी द्वारा धन की सहायता प्राप्त होगी।

वर्तमान समय के जन मानस में भाग्य शब्द अपरिचित नहीं है । आज अगर कोई कार्य समय पर नहीं हो पाता या उसमें किसी भी प्रकार की अड़चन आती है तो भाग्य को ही दोष दिया जाता है ।

10. यदि भाग्य रेखा वृहस्पति क्षेत्र में पहुंच जाये तो व्यक्ति को अधिकार और विशिष्टता प्राप्त होती है ऐसे लोग उच्च पदों को प्राप्त करते हैं। इसके अलावा अगर अन्य शुभ लक्षण हों तथा रेखा के अन्त में त्रिशूल का आकार होवे तो यह राज योग होता है।

11. यदि भाग्य रेखा की कोई शाखा वृहस्पति क्षेत्र में पहंच जाये तो अति उत्तम योग होता है तथा ऐसे व्यक्ति अत्यंत महत्वाकांक्षी होते हैं।

12. शनि क्षेत्र में पहुंचने वाली भाग्य रेखा अच्छा फल देती है।

13. जंजीरनुमा भाग्य रेखा व्यक्ति को दुःख में डाल देती हैं

14. दो भाग्य रेखा हो तथा उसमें कोई दोष न हो तो व्यक्ति उन्नति करता है, सम्मान प्राप्त करता है, यह रेखा समानांन्तर होगी तो भी शुभ फल प्रदान करेगी।

16. यदि भाग्य रेखा हाथ को पार करके मध्यमा में पहुंच जाये तो लक्षण शुभ नहीं होता, वह व्यक्ति हमेशा सीमा और नियम कायदे का उल्लंघन करता है।

17. यदि भाग्य रेखा शीर्ष रेखा पर ही रूकती हो तथा पुनः वहां से वृहस्पति क्षेत्र में पहुंचती हो तो व्यक्ति को प्रेम भावना के कारण बाधा उत्पन्न होती है। परन्तु गुरु के प्रभाव से पुनः प्रेम सम्बन्ध से सहायता द्वारा अभिलाषा पूर्ण होती है।

18. शीर्ष रेखा द्वारा भाग्य रेखा रुक जाय तो व्यक्ति को स्वयं की गलती से असफलता मिलती है।

19. मंगल पर्वत से भाग्य रेखा शुरु होने पर भ्रम, शंका आदि का डर रहता है। यही रेखा शनि क्षेत्र पर जाने से बाधाओं में सफलता तथा धैर्य, श्रम, और लगन से उन्नति होती है।

20. शुक्र पर्वत की ओर से आकर कई बारीक रेखायें जब भाग्य रेखा को काटती हैं, तो पारिवारिक कष्ट और उलझनों का सामना करना पड़ता है।

21. भाग्य रेखा मध्य में खण्डित होने से या टूट जाने से कुछ समय के लिए जीवन निष्क्रिय हो जाता है।

22. भाग्य रेखा से हृदय रेखा की ओर जाने वाली छोटी रेखायें हो तो व्यक्ति के जीवन में प्रेम का ऐसा भी क्षण आता है कि जिनका अन्त विवाह बाद भी नहीं होता।

23. त्रिकोण से (दोनों हाथों में) शुरु होने वाली भाग्य रेखा व्यक्ति को बौद्धिक योजनाओं में सफलता प्रदान करती है।

24. भाग्य रेखा के शुरुआत में टेडी मेडी रेखा एवं श्रृंखला व्यक्ति के बचपन में कष्ट का संकेत देती है।

25. भाग्य रेखा मध्य में हल्की पड़ जाने से उसके मध्य जीवनकाल में सुखमय समय का प्रतीक है।

26. दोनों हाथों में बुध पर्वत पर जानेवाली भाग्य रेखा व्यापार में सफलता देती है।

27. शुक्र पर्वत से एक गहरी रेखा भाग्य रेखा की ओर जाये तो व्यक्ति हिंसात्मक काम भावना वाला होता है।

28. यदि इसी रेखा के साथ अन्य रेखा भी जाती हो तो भारी बाधाओं पर आनन्दपूर्ण विजय होती है।

29. भाग्य रेखा पर नीचे की ओर जाने वाली शाखायें व्यक्ति को आर्थिक कष्ट देती है।

30. भाग्य रेखा तीन जगह से बीच में टूटने से वात रोग द्वारा कष्ट होता है।

31. अगर भाग्य रेखा को कोई अन्य शाखा काटती हुई बुध की जाली को पार कर जाये तो व्यक्ति की बेईमानी उसे ले डूबती है तथा उसे पश्चाताप करना होता है।

32. चन्द्र क्षेत्र से सूर्य या बुध क्षेत्र को सीधी जाने वाली भाग्य रेखा व्यक्ति को व्यापार से महान सफलता दिलाती है। ऐसे लोगों को साहित्य और कला में भी सफलता मिलती है।

33. मष्तिष्क रेखा से शुरु होने वाली भाग्य रेखा का व्यक्ति शराब या नशीले पदार्थों की दुकान आदि चलाता है।

34. जिन हाथों में भाग्य रेखा नहीं पायी जाती वे जीवन में सफल तो होते हैं पर उनमें विशेष निखार या तेज नहीं पाया जाता है। ऐसे लोगों को सामान्य सुखी कहा जा सकता है।

 सभी प्रकार की भाग्य रेखा का फल पढ़े - भाग्य रेखा का फल हस्तरेखा 



सौजन्य  - सरल हस्तरेखा पुस्तक 

Hastrekha Vigyan Aur Fate Line

यात्रा रेखा समुद्र पार यात्रा दर्शाती हैं | Yatra Rekha | Travel Line



हथेली में पाई जाने वाली यात्रा रेखा | Travel Line

शिक्षा , व्यापार अथवा पर्यटन हेतु विदेश जाना आम बात है। विदेश यात्रा की सूचना हथेली में पाई जाने वाली यात्रा रेखायें देती हैं जो क्रमश: चन्द्र पर्वत पर, मणिबंध से एवं जीवन रेखा से उदित होकर जीवन रेखा के साथ-साथ चलने वाली रेखाएं होती हैं। शुक्र से जाने वाली रेखा जल यात्रा दर्शाती है, चन्द्र से सूर्य पर जाने वाली रेखा वायु यात्रा तथा मंगल से निकल कर चन्द्र पर जाने वाली रेखा स्थल यात्रा दर्शाती है।
यात्रा रेखाओं का सामान्य फल इस प्रकार है-
शिक्षा , व्यापार अथवा पर्यटन हेतु विदेश जाना आम बात है। विदेश यात्रा की सूचना हथेली में पाई जाने वाली यात्रा रेखायें देती हैं
1. चन्द्र पर्वत पर पाई जाने वाली लम्बी आड़ी रेखाएं समुद्र पार यात्रा , दर्शाती है।
2. यदि ये रेखायें भाग्य रेखा में विलीन हो जाएँ तो यात्राओं की वजह से भाग्य में वृद्धि होती है।

3. यात्रा रेखा पर क्रॉस, द्वीप अथवा अन्य कोई अशुभ चिह्न हो तो यात्रा में का की आशंका रहती है। इसके साथ ही यदि यात्रा रेखा पर कोई वर्ग हो तो दुर्घटना से प्राणों की रक्षा हो जाती है।

4. मणिबंध से उदित होकर चन्द्र क्षेत्र पर जाने वाली रेखायें भी यात्रा का वो कराती हैं।
5. मणिबंध से उदित होकर बृहस्पति पर्वत पर जाने वाली रेखा लम्बी यात्रा परिणामस्वरूप प्रतिष्ठा एवं सम्पन्नता देती है। |
6. शनि क्षेत्र तक जाने पर समृद्धि एवं भाग्यवृद्धि देती है जबकि सूर्य पर्वत तक जाने पर मान-सम्मान तथा धन प्राप्त होता है। बुध पर्वत पर जाने पर यात्रा से व्यापारिक लाभ एवं अचानक धन प्राप्त होता है।
7. मणिबंध से उदित यात्रा रेखा पर द्वीप या क्रॉस का चिह्न यात्रा में असफलता एवं हानि दर्शाता है।
8. अनेक बार व्यक्ति लम्बी यात्रा में विदेश तो जाता है परन्तु वहीं बस जाता है। इसकी सूचना जीवन रेखा से प्राप्त होती है। जीवन रेखा से निकल कर एक रेखा जीवन रेखा के सहारे-सहारे मणिबंध की तरफ अग्रसर होती है। ऐसा व्यक्ति रोजगार हेतु विदेश में ही बस जाता है।
9. चन्द्र क्षेत्र पर दो रेखाएं 45° का कोण बनाएं तो तीर्थ यात्राएं होती हैं। इसी प्रकार मंगल व शुक्र का कोण भी यात्रा को दर्शाता है।
10. मध्यमा अंगुली के नाखून पर सफेद अर्ध चन्द्र का निशान यात्राओं का द्योतक है।
11. चन्द्र क्षेत्र से सूर्य पर्वत पर जाने वाली रेखाएं वायु यात्रा दर्शाती हैं जबकि शुक्र क्षेत्र से चन्द्र पर जाने वाली रेखा जल यात्रा दर्शाती है।

यात्रा रेखा पर लिखी एक और पोस्ट पढ़ें - यात्रा रेखा विस्तृत जानकारी चित्रों सहित

इस पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Sunday, April 15, 2018

Sun Line With Cross, Triangle, Forked, Trident Palmistry

Cross, Triangle, Trident And Fork On Sun Line

1). Cross is always bad on Sun Line - There are always chances of financial loss or cheating.

2). Triangle is always good on Sun Line - There are always chances of financial gain but mostly in old age.

3). Trident is always good on Sun Line - Trident on Sun Line is a sign of good luck.

4). Fork on Sun Line - Fork on Sun Line indicates subject is not able to get success due to bad concentration and ill-luck.

Sun Line Starting And Ending Point On Hand - Palmistry

Sun line is located at the bottom of ring finger. Sun line always ending at the base of Mount of Sun or below ring finger. Some of the people have more than one sun line. Such natives have soft nature and help others. They get unexpected progress in their life, Sun line starts in many ways like at life line, destiny line, head line or heart line, Mount Mars or Mount Moon areas etc. The different position of starting sun line signify different results in prediction:-

i. Sun line starting at life line:



It is a very good sign. Only few people have their sun line starting at life line. A native with such sunline and a heavy hand, achieves great success in life. Such type of native can perform many jobs at one time. They are multi-functional people they participate in politics and generally get name, fame it work area. If fingers are tall and thumb is inclined backside, then the native share others in their good or bad times, help others and in the process they can leave their work behind. Generally, these kinds of people are either judge or engineer.



If sun line starts at destiny line, the native is endowed with many traits.

But along with this, other symptoms should also be auspicious. Like heavy hands, straight fingers, or prominent mounts of planets. They have different kind of Work style. They get unexpected wealth if such native work in education field-they get name and fame. They are very intelligent person. If such native's brain line is in two parts then it is very auspicious. They give impartial decision and make others aware of their good & bad deeds. They get immediate success in life, if the brain line is faulty, their success is not very smooth. The get peace at the last moments of their life.

III. Sun line starting at Head line:



The native of such hand gets a delayed progress. But if there are more than one destiny line or double Sun line and hand is soft, then the native get sure success. They are likely to get family support also. They can accomplish many plans by their intelligence. They get wealth and reputation in their life.

IV. Sun Line starting at heart line:


The native tends to get progress after struggle, if the sun line starts at heart line. A broken fate line or island on it, the entire life is wasted. If these symptoms are not present, then the native gets success towards the end of life. There will be a possibility of getting success after the age of 30 or 35 years if there is more than one sun line along with this symptom. Such natives are clear hearted. They get cheated by their own person, A faulty or broken sun line does not provide any help to the native. If the brain line is faultless, then the native gets help from one or other resources and they manage their financial condition in away with difficulty.

V. Origin of sun line from Mars place:-


This is a rare symptom. The native of such hands do not have sound health in their childhood. They are likely to get late success in life. Sometimes they work is confusing manner which put them into legal hassles. There is always one or other tension in their life throughout. They don't have a very good family life and tend to get angry fast.

FAQ:

What Will be the effects if sun line starts at lifeline?

Describe the result of sun line starting at destiny line?

Describe the result of sun line starting at brain line?

Describe the result of sun line starting at heart line?

Describe the result of sun line starting at Mars place?

What are the things that sun line indicates?

Highlight the traits of an auspicious Sun line?

Describe the Sun line of the people associated with drama, story, acting etc.?

Island On Children Line In Palmistry

Bad Sign On Children Line On Hand   An Island on children line denotes bad/weak health of child or chances of abortion/miscarriage/death of child if island at the end of children line.

Bad Sign On Children Line On Hand

An Island on children line denotes bad/weak health of child or chances of abortion/miscarriage/death of child if island at the end of children line.

Children lines are more accurate on hand of female (mother) than male (father) so always try to read children lines in hand of mother instead of father.

Island, break and cross on children lines are inauspicious signs denotes death of child, abortion, miscarriage,etc.

Nitin Kumar Palmist 

Cross Above Bracelet Line Practical Palm Reading

As you know in palmistry cross sign is considered very inauspicious sign but at some places on hand cross sign is considered auspicious.


What is the meaning of cross above bracelet lines?


As you know in palmistry cross sign is considered very inauspicious sign but at some places on hand cross sign is considered auspicious.

For example (1) cross on Jupiter Mount gives good results to subject (as per palmistry books cross on mount of Jupiter denotes good marriage, love marriage, subject is loyal, marry to rich person, etc but in my practical this is not always true).   

For example (2) Cross above bracelet line (not at the end of lifeline) or cross on Mount of Ketu (Ketu located in between of Mount of Moon and Mount of Venus) indicates there are chances of sudden gain of money or inheritance most probably in old age or no financial problems in old age. 


 Cross on Mount of Ketu also indicates skin diseases. See above image, cross above bracelet is marked by red circle.

Usually cross on palm indicates accidents, suicide, operation, health problems, financial loss, deception and defamation, etc but on Mount Jupiter and Ketu gives good results to subject. 

Mystic cross is totally different sign than cross sign on lines and mounts

Friday, April 13, 2018

Palmistry Life Line With Images | Short & Long Life Line | Double Life Line | Death & Age

Palmistry Life Line With Images | Short & Long Life Line | Double Life Line | Death & Age


Palmistry Life Line With Images | Short & Long Life Line | Double Life Line | Death & Age

Meaning & Location Of Life Line On Hand

Lifeline is a semicircle, rounded or straight line which is close to thumb and starts from area between index finger and thumb as shown in above image (green line is life line).

Lifeline denotes health and family related problems, changes in life, etc.  Old palmists are still using lifeline to calculate age of person which is not true.  You can read "Myth About Life Line" why it is not true? 

Time Calculate Chart Of Life Line


Time Calculate Chart Of Life Line- Use this age calculator to predict subject life and longevity

Calculate Age From Life Line 

All of you definitely would have questions coming to mind like whether I will be having a short lifespan?  How long my lifespan would be?  Till what age I will be alive?

Knowing the age of the person from the life line:

In palmistry books, it is said that if the person's heart line is small then the person is short-lived, if the head line is small then the person is short-lived, and if the life line is small then the person is short-lived, if at the end of the lifeline there is a cross it indicates untimely death of the person! Many such types of yogas are given in the palmistry books but these do not have any authenticity.

In palmistry books, it is said that if the person's heart line is small then the person is short-lived, if the head line is small then the person is short-lived, and if the life line is small then


Read full article about Palmistry Life Line Short and Long 

Broken Life Line Or Break On Life Line


Broken Or Break On Life Line denotes accidents change in life operation problem in married life

Broken life line or break on life line denotes major change in life, change of location, or health problem. If break in both hand's life line then there are strong chances of accident or serious health related problem.  Break under Mount of Saturn on Life Line denotes backache, spinal problem, ADHD, depression, suicidal case in family, leg and arm injury, prone to accident, etc. 

Chained Or Rope Like Life Line

Chained Or Rope Like Life Line not good for health

Chained life line denotes weak health, low concentration, weak in study, financially weak in early childhood, masturbator, addiction to masturbation, timid, shy, etc.

Life line is in parts or ladder type life line also indicates weak health. 

Double Or Parallel Life Line

Double Or Parallel Life Line

Location of double life line - A line running parallel to life line.

Result of double life line - Protection from long-illness and accidents. Double lifeline indicates good health and vitality, indicates strong physical ability . Double Life Line shows influence or impact or support of spouse and family or support from opp. sex.


Fork At The End Of Life Line

Fork At The End Of Life Line

Small fork at the end of lifeline denotes health problems in old, diabetes, etc.  Big fork indicates desire to leave birthplace, abroad travel, urinary disorder, etc.


Life Line ends on Mount Of Moon


Life Line ends on Mount Of Moon


If Life Line ends or goes to Mount of Moon then it indicates venereal disease, increase in sensuality, abroad travel, STD, success in near sea area, and problem related to uterine, cervix, womb.

Upward & Downward Lines/Branches From Life Line


Upward & Downward Lines/Branches From Life Line

Small upward branches on Life Line indicates good health, good progress, and fulfill of all wishes.

Small downward branches on life line indicates bad health, bad progress, and struggle throughout life.

Vertical Line From Life Line Towards Mount Of Jupiter



If vertical line goes to Mount of Jupiter from Life line indicates the person will fulfill all his wishes in his life.  If some horizontal bar lines cut then indicate hurdles to fulfill desire.  Also this line indicates the person will suffer with lungs/throat disease.  Also indicates success in abroad.

Big Gap Between Head Line And Life Line


Big Gap Between Head & Lifeline Palmistry

Big gap or space between Head Line and Life Line denotes independent thinking, impulsive, impatient and thinks for himself.  Overconfidence.

Nitin Kumar Palmist


Yatra Rekha - Hath Mein Videsh Jane Ka Yog | Hastr Rekha

हस्तरेखा में यात्रा  रेखा  का परिचय

Yatra Rekha - Hath Mein Videsh Jane Ka Yog | Hasta Rekha

चन्द्र पर्वत पर आड़ी एवं खड़ी रेखा दोनों से यात्रा का विचार किया जाता है तथा जीवन रेखा से निकलकर चन्द्र पर्वत पर पहुंचती रेखाएं या हथेली के पाश्र्व से चन्द्र पर आती हुई रेखाएं यात्रा रेखा कहलाती है। मणिबन्ध से उठकर चन्द्र पर पहुंचने वाली रेखायें भी यात्राओं के बारे में ज्ञान दर्शाती हैं। यात्रा रेखाओं की शक्ति पर्वत की प्रधानता के अनुसार निश्चित की जाती है।

1.अ. अगर जीवन रेखा द्विमार्गी होकर एक शाखा चन्द्र पर पहुंचे तो मनुष्य जीवन पथ पर सदा अस्थिर होता है तथा कई यात्रायें जीवन में करता है।

1.ब. जीवन रेखा स्वतः घूमकर चन्द्र पर जा पहुंचे तब मनुष्य लम्बी यात्रायें करता है। उसका अन्त भी मातृभूमि से अन्यत्र ही होता है।

2.अ. यात्रा रेखाओं पर क्रास, द्वीप, शाखा, विंदु आदि होने से यात्राओं में विघ्न बाधाएं एवं दुर्घटनादि होती है।




2.ब. चन्द्र पर्वत से आरम्भ होकर मस्तक रेखा तक जानेवाली रेखा से यात्रा के कारण सिर में चोट पहुंचती है।

3.अ. चन्द्र पर्वत से चलकर भाग्य रेखा को काटती हुई ऊपर की ओर जीवन रेखा में जाकर मिले तो जातक विश्व भर का भ्रमण करता हैं।






3.ब. हथेली के नीचे से आती हुई यात्रा रेखा जीवन रेखा की ओर जाते समय मध्य में क्रास चिह्न पर समाप्त हो जाय तो व्यक्ति को पानी की यात्रा से दुर्घटना आदि होने की आशंका होती है।










4.अ. कोई भी रेखा शनि पर्वत से आकर जहां पर आयु रेखा को काटती है उस समय यात्रा से दुर्घटना की आशंका होती है।

4.ब. अगर यात्रा रेखा जाकर हृदय रेखा से मिल जाय तो यात्रा में प्रेम अथवा विवाह हो जाता है।

5.अ. अगर यात्रा रेखा मस्तिष्क रेखा से मिल जाय तो यात्रा में कोई व्यापारिक सम-हजयौता होगा।






5.ब. चन्द्र पर्वत से चलकर सही मार्ग से हटकर नीचे की ओर आयु रेखा में जाकर मिले तो यात्रा में दुर्घटना होती है।

5.स. मणिबन्ध से मंगल पर्वत की ओर जाने वाली रेखा समुद्र यात्रा का संकेत देती है, यदि क्षितिज पर कट जाय तो छोटी यात्रायें नाव आदि से होती है।




सौजन्य  - सरल हस्तरेखा पुस्तक 
Yatra Rekha - Hath Mein Videsh Jane Ka Yog | Hastr Rekha
Hastrekha Vigyan Aur Yatra Rekha

ONLINE PALMISTRY READING




SEND ME YOUR PALM IMAGES FOR DETAILED AND PERSONALIZED
PALM READING




Question: I want to get palm reading done by you so let me know how to contact you?


Answer: Contact me at Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in.

Question: I want to know what includes in Palm reading report?

Answer: You will get detailed palm reading report covering all aspects of life. Past, current and future predictions. Your palm lines and signs, nature, health, career, period, financial, marriage, children, travel, education, suitable gemstone, remedies and answer of your specific questions. It is up to 4-5 pages.



Question: When I will receive my palm reading report?

Answer: You will get your full detailed palm reading report in 9-10 days to your email ID after receiving the fees for palm reading report.



Question: How you will send me my palm reading report?

Answer: You will receive your palm reading report by e-mail in your e-mail inbox.



Question: Can you also suggest remedies?

Answer: Yes, remedies and solution of problems are also included in this reading.


Question: Can you also suggest gemstone?

Answer: Yes, gemstone recommendation is also included in this reading.


Question: How to capture palm images?

Answer: Capture your palm images by your mobile camera
(Take image from iphone or from any android phone) or you can also use scanner.


Question: Give me sample of palm images so I get an idea how to capture palm images?

Answer: You need to capture full images of both palms (Right and left hand), close-up of both palms, and side views of both palms. See images below.






Question: What other information I need to send with palm images?

Answer: You need to mention the below things with your palm images:-

  • Your Gender: Male/Female

  • Your Age:

  • Your Location:

  • Your Questions:

Question: How much the detailed palm reading costs?

Answer: Cost of palm reading:


  • India: Rs. 600/-

  • Outside Of India: 20 USD
( For instant palm reading in 24 hours you need to pay extra Rs. 500 or 15 USD )
(India: 600 + 500 = Rs. 1100/-)
(Outside Of India: 20 + 15 = 35 USD)

Question: How you will confirm that I have made payment?


Answer: You need to provide me some proof of the payment made like:

  • UTR/Reference number of transaction.

  • Screenshot of payment.

  • Receipt/slip photo of payment.

Question: I am living outside of India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for International Clients:

International clients (those who are living outside of India) need to pay me 20 USD via PayPal or Western Union Money Transfer.

  • PayPal (PayPal ID : nitinkumar_palmist@yahoo.in)
    ( Please select "goods or services" instead of "personal" )

  • PayPal direct link for $20 (You will get reading in 9/10 days) - PayPal Payment 20 dollars
    PayPal direct link for $35 (You will get reading in 24 hours) - PayPal Payment 35 dollars
  • Western Union: Contact me for details.

Question: I am living in India so what are the options for me to pay you?

Answer: Payment options for Indian Clients:

  • Indian client needs to pay me 600/- Rupees in my SBI Bank via netbanking or direct cash deposit.

  • SBI Bank: (State Bank of India)

Nitin Kumar Singhal
A/c No.: 61246625123
IFSC CODE: SBIN0031199
Branch: Industrial Estate

City: Jodhpur, Rajasthan.
  • ICICI BANK:
(Contact For Details)

Email ID: nitinkumar_palmist@yahoo.in






Client's Feedback - May 2018



If you don’t have your real date of birth then palmistry is there to help you for future life predictions.  Our palm lines, signs, mounts and shapes which are very useful in predicting the person’s life. We can predict your future from the lines and signs of your both palms. We can predict your future by studying your palm lines and signs. There is no need to send us your date of birth , time of birth , place of birth etc . Palm told the personality ,future ups and downs thus a experienced palmist can guide you to deal with upcoming challenges with vedic remedies.